play_arrow

हिंदी

ब्राह्मणी और तिल के बीज

kidyaan June 10, 2022 45


Background
share close

एक समय एक निर्धन ब्राह्मण परिवार एक गांव में रहता था। एक दिन उनके यहां कुछ अतिथि आए थे। घर में सारा खाने पीने का सामान खत्म हो चुका था। इसी को लेकर दोनों दंपत्ति बात कर रहे थे। ब्राह्मण “कल कर्क सक्रांति है, मैं भिक्षा के लिए दूसरे गांव जाऊंगा। वहां एक ब्राह्मण सूर्य देव की तृप्ति के लिए कुछ दान करना चाहता है।

 

Rate it
Previous episode
Similar episodes

Post comments

This post currently has no comments.

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.